UPSC Syllabus In Hindi | UPSC के बारे में सारी जानकारी

UPSC Syllabus In Hindi – नमस्कार दोस्तों आज हम जानेंगे सिविल सेवा परीक्षा जिसे UPSC IAS परीक्षा भी कहते हैं इसके संपूर्ण जानकारी के बारे में जानेंगे अतः यह जानकारी उन सभी उम्मीदवारों या अभ्यार्थियों के लिए जरूरी है जिन्होंने Upsc करने की ठान ली है या इसकी तैयारी करना चाहते हैं

UPSC का एग्जाम हर साल भारत सरकार में विभिन्न सेवाओं और पदों पर उम्मीदवारों की भर्ती के लिए आयोजित किया जाता है इसकी परीक्षा उम्मीदवारों को दो चरणों में देनी होती है जिसे प्रीलिम्स और मेंस कहते हैं

हर वर्ष की भांति इस वर्ष 2022 में भी UPSC IAS की भर्ती निकलेगी आज हम इससे जुड़ी संपूर्ण जानकारी को जानेंगे अतः आप सभी से आग्रह है कि इस लेख को अंत तक पढ़ें,

इस लेख में हम इस एग्जाम के लिए बोर्ड द्वारा जारी मानदंड और पात्रता को जानेंगे तथा इस के लिए जारी एग्जाम पैटर्न को और परीक्षा में पूछे गए प्रश्न पर आधारित पाठ्यक्रम को भी जानेंगे तो चलिए दोस्तों शुरू करते हैं इस लेख को,,

Table of Contents

UPSC का Full Form

UPSC का फुल फॉर्म अंग्रेजी में UNION PUBLIC SERVICE COMMISSION होता है UPSC का फुल फॉर्म हिंदी में संघ लोक सेवा आयोग होता है।

IAS का Full Form

IAS का फुल फॉर्म अंग्रेजी में INDIAN ADMINISTRATION SERVICE होता है जिसे हिंदी में भारतीय प्रशासनिक सेवा कहते हैं I

Upsc IAS क्या है ?

Upsc के एग्जाम को पास करने वाले उम्मीदवार जो टॉप रैंक के अंदर आते हैं उन उम्मीदवारों को आईएएस बनाया जाता है तथा इस IAS उम्मीदवारों को कुछ साल की सेवा के बाद जिला मजिस्ट्रेट और कलेक्टेड कलेक्टर बना दिया जाता है जब IAS OFFICER 16 वर्ष की सेवा कर लेता है तब उसके बाद यह Ias अधिकारी के रूप में राजनीतिक एक पूरे मंडल का नेतृत्व करता है

सर्वोच्च पैमाने में पहुंचने पर Ias अधिकारी भारत सरकार के पूरे विभागों और मंत्रालयों का नेतृत्व करते हैं आईएएस अधिकारी सांसद में बनने वाले कानून को अपने इलाकों में लागू करते हैं तथा सरकारी नीतियां और कानून बनाने में भी इनका अहम योगदान होता है इसके साथ-साथ Ias अधिकारी कैबिनेट और अंदर सीकेट्री अधिकारी भी बन सकते हैं I

दोस्तों अब आप तो IAS क्या है और IAS का कार्य क्या है सब जान ही गए होंगे तो चलिए अब जानते हैं इसके आवेदन करने के लिए जारी मानदंड (Eligibility) और पात्रता (Criteria) को भी

UPSC IAS के लिए जारी मानदंड (Eligibility) और पात्रता (Criteria) –

जो भी उम्मीदवार यूपीएससी की तैयारी करने की सोच रहा है और उसे इस एग्जाम को पास करना है तो उम्मीदवार को आवेदन फॉर्म भरने से पहले सर्वप्रथम बोर्ड द्वारा जारी मानदंड और पात्रता को देख लेना चाहिए तो चलिए जानते हैं इसकी पात्रता और मानदंड को,

शैक्षणिक योग्यता – जो भी उम्मीदवार इसके लिए आवेदन करना चाहता है उसकी न्यूनतम योग्यता में डिग्री होनी चाहिए सरकारी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय की हो,, तथा जो भी उम्मीदवार अपने अंतिम वर्ष में है या परिणाम की प्रतीक्षा कर रहे हैं वह भी यूपीएससी परमवीर परीक्षा के लिए उपस्थित होने के पात्र होंगे और पेशेवर और तकनीकी डिग्री के समकक्ष सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त पेशेवर और तकनीकी योग्यता रखने वाले उम्मीदवार भी इसका आवेदन कर सकते हैं I

इसके साथ साथ जो भी उम्मीदवार मेडिकल छात्र है और एमबीबीएस के अंतिम वर्ष को पास कर लिया है लेकिन इंटरशिप को पूरा नहीं किए हैं व उम्मीदवार भी आईएएस के लिए आवेदन कर सकते हैं हालांकि उम्मीदवार को मुख्य परीक्षा के दौरान संस्था के संबंधित प्राधिकारी पाठ्यक्रम का पूरा होने का प्रमाण पत्र जमा करना होगा तभी वह आवेदन कर पाएंगे मुख्य परीक्षा के लिए I

राष्ट्रीयता – जो भी उम्मीदवार आवेदन करना चाहते हैं वह भारत के नागरिक होने चाहिए l

आयु सीमा – सभी उम्मीदवार जो आवेदन करना चाहते हैं उन की न्यूनतम आयु 21 वर्ष की हो तथा अधिकतम आयु 32 वर्ष की होनी चाहिए इसके साथ-साथ सरकार द्वारा कुछ विशेष जाति को आयु में कुछ छूट दी जाती है जिसे हम हमने नीचे तालिका में प्रस्तुत किया हुआ है l

वर्ग या श्रेणीआयु में विशेष छूट
आम (GEN)उम्र में छूट नहीं
अन्य पिछड़ा वर्ग (OBC)3 वर्ष
SC / ST5 साल
रक्षा सेवा कार्मिक, जो किसी विदेशी देश के साथ या अशांत क्षेत्र में शत्रुता के दौरान संचालन के दौरान अक्षम हो गए ,3 वर्ष
ECO / SSCO जिन्होंने 1 अगस्त 2021 तक 5 साल की सैन्य सेवा के असाइनमेंट की प्रारंभिक अवधि पूरी कर ली है उनके लिए आयु में छूट,5 साल

Upsc में उम्मीदवार के प्रयासों की सीमा

यूपीएससी में उम्मीदवारों के प्रयासों की सीमा – उम्मीदवार जो भी वर्ग का हो सभी वर्ग के लिए अलग-अलग प्रयास सीमा जारी की गई है जिसमें सामान्य e-w श्रेणी के उम्मीदवारों को न्यूनतम प्रयास करने का मौका दिया जाता है जिसकी संपूर्ण जानकारी हमें नीचे तालिका में प्रस्तुत की है जिसे ध्यानपूर्वक पढ़ें l

वर्ग या श्रेणीयूपीएससी में उम्मीदवारों के लिए जारी आयु सीमाउम्मीदवारों के लिए प्रयासों की संख्या
सामान्य/ईडब्ल्यूएस (GEN/EWL)326
अन्य पिछड़ा वर्ग(OBC)359
SC / ST37कोई सीमा नहीं हैं।
सामान्य शारीरिक रूप से अक्षम359
Obc शारीरिक रूप से विकलांग389
SC और ST शारीरिक रूप से विकलांग40कोई सीमा नहीं है।
विकलांग सैनिक (GEN)35
विकलांग सैनिक (OBC)38
विकलांग सैनिक (SC और ST)40

UPSC CSE Exam Pattern 2022

जो भी उम्मीदवार यूपीएससी IAS,IPS,IFS की परीक्षा के लिए फॉर्म भर दिए हैं उन्हें अब इसके एग्जाम पैटर्न को जानना चाहिए अर्थात कितने प्रकार के पेपर होते हैं प्रश्न किस प्रकार से पूछे जाते हैं इन सब से संबंधित जानकारी को जानना चाहिए तो चलिए दोस्तों जानते हैं इसके एग्जाम पैटर्न को,

दोस्तों यूपीएससी IAS की परीक्षा तीन चरणों में ली जाती है जिसमें पहले प्रीलिम्स दूसरा मेंस और तीसरा इंटरव्यू होता है यूपीएससी परीक्षा 2022 में अभी कोई भी परिवर्तन नहीं हुआ है यदि उम्मीदवार को यूपीएससी का एग्जाम पास करना है तो उसे इसके तीनों चरणों को पास करना होगा जो एक के बाद एक होते हैं आप पहले को पास करने के बाद ही दूसरे में जा सकते हैं तो चलिए दोस्तों UPSC IAS Exam Pattern को एक-एक करके जाने,

IAS की परीक्षा के लिए UPSC का प्रीलिम्स –

  • इस प्रीलिम्स में उम्मीदवारों को दो पेपर का सामना करना होगा जिसमें पेपर l सामान्य अध्ययन और पेपर ll सामान्य अध्ययन जिसे CSAT भी बोलते हैं I
  • इस प्रीलिम्स में प्रश्न पत्र की भाषा हिंदी व अंग्रेजी दोनों होती है l
  • दोनों पेपर में आपको कट ऑफ के ऊपर अंक प्राप्त करना होगा l
  • इस पेपर l मैं प्रश्नों की संख्या 100 होगी जिसमें प्रत्येक प्रश्न दो अंक के होंगे जिसका कुल योग 200 अंक का होता है जिस के पेपर को हल करने की समय अवधि 2 घंटे की होती है l
  • पेपर ll मैं प्रश्नों की संख्या 80 होती है जिसका कुल योग अंक 200 का होता है जिसके पूरे प्रश्नों को हल करने की समय अवधि 2 घंटे की होती है l
  • पेपर l व पेपर ll मैं प्रश्नों के गलत उत्तर देने पर ¼ या 0.25 की नेगेटिव मार्किंग भी होती है l

प्रीलिम्स के लिए जारी अंकल सूची,

S.Nपेपर के प्रकारप्रश्नों की संख्याकुल अंकआबंटित समय अवधिपरीक्षा का माध्यम
1.पेपर I: सामान्य अध्ययन 1002002 घंटावस्तुनिष्ठ प्रकार
2.पेपर- II: सामान्य अध्ययन- II (CSAT) 802002 घंटावस्तुनिष्ठ प्रकार

IAS की परीक्षा के लिए UPSC का मेंस –

  • वे सभी उम्मीदवार जिन्होंने प्रीलिम्स की परीक्षा को पास कर लिया है उन्हें अब यूपीएससी मैंस का पेपर देना होगा I
  • मेंस की परीक्षा में उम्मीदवारों को दी गई उत्तर पुस्तिका में उत्तर लिखना होगा इसके अलावा उन्हें कोई अतिरिक्त सीट प्रदान नहीं की जाएगी I
  • मेंस की परीक्षा में 9 पेपर होंगे जिसमें पेपर A और पेपर b बस को छोड़कर अन्य सभी पेपर में इसको आपकी रैंक निर्धारित करेंगे l
  • पेपर ए व पेपर बी को छोड़कर आपका इसको कुल 1750 अंकों में से ही होगा l
  • जित ने भी पेपर होंगे उसके अंतिम चयन के दौरान प्रत्येक पेपर में कम से कम 25% अंक प्राप्त करना अनिवार्य है l
  • मेंस के इस एग्जाम में भाषा की बात करें तो इस एग्जाम में लगभग सभी भाषा शामिल हैं सभी भाषाओं में इस पेपर को लिया जाता है जिस की सूची हमने नीचे प्रस्तुत की है l
असमियासिंधीबोडोकश्मीरीमराठी
हिन्दीकन्नड़डोगरीकोंकणीनेपाली
उर्दूमणिपुरीगुजरातीमैथिलीउड़िया
संस्कृतपंजाबीसंथालीबंगालीतामिल
अंग्रेजीमलयालमतेलुगू
  • मेंस के एग्जाम में पेपर ए व पेपर बी मे प्रत्येक पेपर बस 300 अंको का होता है बाकी सभी पेपर 250 अंकों के होते हैं l
  • प्रत्येक पेपर को हल करने की समय अवधि 3 घंटे की होती है l

मेंस के लिए जारी अंकन सूची,

S.N कागज़ या पेपर के प्रकारविषय सूचीकुल अंकसमय अवधि
1.पेपर एअनिवार्य भारतीय भाषा3003 घंटा
2.पेपर बीअंग्रेज़ी3003 घंटा
3.पेपर – Iनिबंध2503 घंटा
4.पेपर llसामान्य अध्ययन I2503 घंटा
5.पेपर IIIसामान्य अध्ययन II2503 घंटा
6.पेपर IVसामान्य अध्ययन III2503 घंटा
7.पेपर वीसामान्य अध्ययन IV2503 घंटा

सामान्य अध्ययन के पेपर l,ll,lll, वा lV में शामिल विषयों की सूची हमने नीचे प्रस्तुत की है।

1.सामान्य अध्ययन Iभारतीय विरासत और संस्कृति, इतिहास और भूगोल, समाज
2.सामान्य अध्ययन IIशासन, संविधान, राजनीति, सामाजिक न्याय, अंतर्राष्ट्रीय संबंध
3.सामान्य अध्ययन IIIप्रौद्योगिकी, आर्थिक विकास, जैव विविधता, पर्यावरण, सुरक्षा और आपदा प्रबंधन
4.सामान्य अध्ययन IVनैतिकता, योग्यता, अखंडता

IAS की परीक्षा के लिए यूपीएससी का इंटरव्यू

यूपीएससी परीक्षा पैटर्न की चयन प्रक्रिया का यह अंतिम चरण है जिसके विषय सूची के बारे में हम जानेंगे।

  • इस परीक्षा में साक्षात्कार में 275 अंक होते हैं जिसमें,
  • अधिकतम अंक 2025 में बनाता है।
  • इंटरव्यू के दौरान उम्मीदवार में देखे जाने वाले गुण निम्नलिखित हैं।
    • नैतिक और बौद्धिक अखंडता
    • संकट प्रबंधन कौशल
    • विश्लेषणात्मक सोच
    • बौद्धिक तीक्ष्णता
    • महत्वपूर्ण सोच
    • जोखिम मूल्यांकन कौशल
    • नेता बनने की क्षमता

UPSC CSE Syllabus 2022 In Hindi

UPSC की तैयारी कर रहे अब भारतीय उम्मीदवारो के लिए हमने इसके पाठ्यक्रम को पेपर के आधार पर विषय सूची तैयार की है जिससे उन्हें पढ़ने में और समझने में सहायता मिलेगी इसलिए बस की सहायता से उम्मीदवार एक अच्छी तैयारी कर सकते हैं और रणनीति भी बना सकते हैं कि किस विषय को कितना समय देना है जो उन्हें पेपर को पास करने में सहायता देगा तो चलिए दोस्तों जानते हैं इसके पाठ्यक्रम को,

UPSC के इस परीक्षा के दोनों पाठ्यक्रमों को हम एक-एक करके जानेंगे,

Upsc Prelims Syllabus

पेपर 1 (सामान्य अध्ययन) ;

  • सामान्य विज्ञान
  • भारतीय और विश्व भूगोल
  • भारत और विश्व का सामाजिक भौतिक आर्थिक भूगोल
  • आर्थिक और सामाजिक विकास विशेष रूप से सतत विकास गरीबी समावेशन सरकारी योजना जनसांख्यिकी आदि
  • राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय महत्व से संबंधित समसामयिक घटना ।
  • भारतीय राजनीति और शासन।
  • राजनीति अवस्था, लोकसभा, राज्यसभा, विधानसभा, राष्ट्रपति शक्ति, राजपाल, संविधान, मौलिक अधिकार और मुद्दे, पंचायती राज, सार्वजनिक नीति, राज्य प्रधानों की निर्देश नीति आदि शामिल है।
  • जलवायु परिवर्तन और जैव विविधता।
  • पर्यावरण परिस्थितिकी, अविष्कार, हरित ऊर्जा आदि शामिल है।

पेपर 2 (सामान्य अध्ययन ll ) CSAT ;

  • समस्या समाधान और निर्णय लेना
  • डाटा इंटरप्रिटेशन 
  • संचार कौशल पारंपारिक कौशल तथा समाज
  • तार्किक तर्क
  • विश्लेषणात्मक क्षमता
  • मूल संख्यात्मकता
  • सामान्य मानसिक क्षमता पर प्रश्न आदि शामिल है।

Upsc Mains Syllabus

पेपर ए (अनिवार्य भारतीय भाषा) ;

  • लघु निबंध
  • सटीक लेखन
  • उपयोग और शब्दावली
  • दिए गए मार्ग की समझ

पेपर बी (अंग्रेजी ) ;

  • Usage and vocabulary
  • Short essays
  • Precis writings
  • Comprehension of given passage

पेपर 1 ( निबंध ) ;

  • निबंध संबंधित जानकारी और निबंध लेखन

पेपर 2 ( सामान्य ज्ञान l ) ;

  • दुनिया में प्राकृतिक संसाधनों का वितरण
  • ज्वालामुखी गतिविधि, भूकंप, चक्रवात, सुनामी आदि जैसे भू भौतिकी घटनाएं,
  • भौगोलिक विशेषताएं,
  • दुनिया के विभिन्न हिस्से में उद्योग
  • संपूर्ण विश्व के भौतिक भूगोल की मुख्य विशेषताएं
  • स्वतंत्रता के बाद देश के भीतर पुनर्गठन और समेकन
  • स्वतंत्रता संग्राम, देश के सभी हिस्सों से प्रसिद्ध हस्तियां और उनका योगदान
  • 18 वीं शताब्दी के बाद आधुनिक भारतीय इतिहास, महत्वपूर्ण घटनाएं प्रसिद्ध व्यक्तित्व और मुद्दे।
  • महिलाओं और महिलाओं के संगठन की भूमिका, गरीबी और विकासात्मक मुद्दे, जनसंख्या संबंधित मुद्दे, शहरीकरण और इसके कारण होने वाली समस्याएं तथा उसका उपचार।
  • विश्व और समाज के इतिहास, संस्कृति और भारतीय विरासत 
  • भारतीय संस्कृति प्राचीन से लेकर आधुनिक काल तक,
  • भारतीय समाज तथा इस पर वैश्वीकरण का प्रभाव
  • भारतीय समाज तथा भारत की विविधता की मुख्य विशेषताएं।
  • औद्योगिक क्रांति, विश्व युद्ध, उपनिवेशवाद, राष्ट्रीय सीमाओं का पुनः निर्धारण, पूंजीवाद, साम्यवाद, समाजवाद, आदि उनके रूप और समाज पर प्रभाव।
  • सामाजिक संप्रदायिकता, शक्ति करण, क्षेत्रवाद तथा धर्मनिरपेक्षता
  • दक्षिण एशिया और भारतीय उपमहाद्वीप कारक प्राथमिक, द्वितीय, और तृतीयक क्षेत्र के स्थान के लिए जिम्मेदार।

पेपर 3 (सामान्य ज्ञान ll ) ;

  • भारत और उसके पड़ोसी देश और उनसे संबंध
  • महत्वपूर्ण अंतरराष्ट्रीय संस्थाएं और मंच उनकी संरचना एजेंसियां,,
  • क्षेत्रीय, द्विपक्षीय और वैश्विक समूह और भारत से जुड़े या भारत के हित को प्रभावित करने वाले समझौते
  • गरीबी और भुखमरी से संबंधित मुद्दे
  • विभिन्न अर्ध न्यायिक निकाय और वैधानिक
  • राज्य विधायिका संरचना और संसद, विशेष अधिकार और शक्ति और उसमें उत्पन्न होने वाले मुद्दे, व्यवसाय का संचालन,
  • विभिन्न संवैधानिक पदों, कार्यों, शक्तियों और जिम्मेदारियों की नियुक्ति
  • योजनाएं और इस योजनाओं का प्रदर्शन, कमजोर वर्गों की सुरक्षा, कानून संस्था और निकाय,
  • जनप्रतिनिधित्व अधिनियम के लिए जारी मुख्य विशेषताएं
  • संघ और राज्यों के कार्य उनकी जिम्मेदारियां, स्थानीय स्तर तक शक्तियों और वित्त का हस्तांतरण, संघीय ढांचे से संबंधित मुद्दे और चुनौतियां
  • अंतरराष्ट्रीय, राष्ट्रीय, शासन, राजनीति, संविधान, सामाजिक न्याय पर आधारित संबंध।
  • भारतीय संविधान संविधान का विकास, संशोधन महत्वपूर्ण प्रावधान, संविधान की विशेषताएं, संविधान की मूल संरचना आदि
  • विभिन्न अंगों के बीच शक्तियों का बंटवारा, संस्थाओं पर विवाद करना।
  • विकास उद्योग और विकास प्रक्रिया, गैर सरकारी संगठन, विभिन्न संघों, दाताओं, दान, संस्थागत और हितधारको आदि की भूमिका
  • शिक्षा, स्वास्थ्य, मानव समाज से संबंधित सामाजिक क्षेत्र, प्रबंधन से संबंधित मुद्दे आदि शामिल है।
  • अन्य देशों के साथ भारतीय संवैधानिक योजना
  • कार पालिका और न्यायपालिका तथा कार्यकारी की संरचना, सरकार के मंत्रालय, कामकाज और संगठन, औपचारिक और अनौपचारिक संघ की राजनीति में भूमिका
  • विभिन्न क्षेत्रों का विकास के लिए सरकारी नीतियां तथा उनके डिजाइन और कार्यान्वयन से उत्पन्न होने वाले मुद्दे
  • शासन के महत्वपूर्ण पहलू, पारदर्शिता, ई गवर्नेंस अनुप्रयोग, जवाबदेही, सफलताएं, मॉडल, सीमाएं और क्षमता, नागरिक चार्टर और अन्य उपाय।
  • महत्वपूर्ण एजेंसियां और उनकी संरचनाएं
  • भारतीय प्रवासी पर विकसित और विकासशील देशों की नीतियां, भारत के हित में राजनीति का प्रभाव
  • लोकतंत्र में आईएस का कार्य और उसकी भूमिका

पेपर 4 (सामान्य ज्ञान lll ) ;

  • विभिन्न एजेंसियां, सुरक्षा बल उनका जनादेश
  • गैर राज्य अभिनेताओं की भूमिका, अंतरराष्ट्रीय सुरक्षा के लिए चुनौती पैदा करने वाले राज्य
  • उग्रवाद और विकास के प्रसार दोनों के बीच का संबंध
  • आपदा संबंधित जानकारी और आपदा प्रबंधन
  • विज्ञान और प्रौद्योगिकी में भारतीय की उपस्थिति , स्वदेशी करण और नई तकनीकों का विकास।
  • बुनियादी ढांचा, रेलवे, सड़कें, ऊर्जा, हवाई अड्डा, बंदरगाह आदि
  • भारत के अंदर भूमि सुधार संबंधित जानकारी।
  • देश के विभिन्न हिस्सों में प्रमुख फसलें, कृषि उपज मुद्दे, विभिन्न प्रकार की सिंचाई और सिंचाई प्रणाली भंडारण और किसानों की सहायता के लिए प्रौद्योगिकी,।
  • न्यूनतम समर्थन मूल्य से संबंधित मुद्दे, प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष कृषि सब्सिडी, सार्वजनिक वितरण प्रणाली उद्देश, सीमाएं, कार्यप्रणाली, सुधार और खाद सुरक्षा के मुद्दे प्रौद्योगिकी मिशन, पशुपालन संबंधित जानकारी
  • समावेशी तरक्की और इसके मुद्दे
  • भारतीय अर्थव्यवस्था, विकास और रोजगार संबंधित मुद्दे,
  • सरकारी बजट पेश करना और समझना
  • भारत में खाद्य प्रसंस्करण, आपूर्ति श्रृंखला प्रबंधन, डाउनस्ट्रीम आवश्यकताएं,
  • औद्योगिक विकास पर प्रभाव, औद्योगिक नीति में परिवर्तन, अर्थव्यवस्था पर उदारीकरण के प्रभाव
  • दैनिक जीवन में विज्ञान का महत्व और उसके अनुप्रयोग और प्रभाव
  • निवेश मॉडल
  • अंतर्राष्ट्रीय कंप्यूटर, आईटी, रोबोटिक्स, जैव प्रौद्योगिकी, नैनो प्रौद्योगिकी, और बौद्धिक संपदा से संबंधित मुद्दों के क्षेत्र में जागरूकता
  • पर्यावरण प्रदूषण, संरक्षण, प्रभाव पर गिरावट
  • संचार नेटवर्क के माध्यम से अंतरराष्ट्रीय सुरक्षा की चुनौतियां, सोशल नेटवर्किंग साइटों की भूमिका, अंतरिक्ष सुरक्षा चुनौतियों में मीडिया, साइबर सुरक्षा की मूल बातें आदि l
  • आतंकवाद के साथ संगठित अपराध का संबंध और सीमावर्ती क्षेत्रों में सुरक्षा चुनौतियां और उसका प्रबंधन l

पेपर 5 (सामान्य ज्ञान lV ) ;

  • लोक सेवा की अवधारणाएं, शासन और इमानदारी का दार्शनिक आधार, सूचना का अधिकार, कार्य संस्कृति, सेवा वितरण की गुणवत्ता, भ्रष्टाचार की चुनौतियां, सार्वजनिक धन का उपयोग, नागरिक चार्टर, आचार संहिता, सरकार में सूचना साझा करना और पारदर्शिता यह सरकार में सत्य निष्ठा है.
  • अंतरराष्ट्रीय संबंधों और वित्त पोषण में नैतिक मुद्दे, शासन में नैतिक और नैतिक मूल्यों का सुदृढ़ीकरण, निगम से संबंधित शासन प्रणाली, जवाबदेही और नैतिक शासन, नैतिक मार्गदर्शन के स्त्रोत के रूप में नियम विवेक कानून और विनियम सरकारी और निजी संस्थानों में नैतिक चिंताएं, सिविल सेवा मूल्य और नैतिकता,
  • रवैया, कार्य, सामग्री, विचार, संरचना और व्यवहार के साथ इसका प्रभाव और संबंध, सामाजिक प्रभाव और अनुनय, नैतिक और राजनीतिक दृष्टिकोण.
  • मानवीय मूल्य, शिक्षकों से सबक, शैक्षणिक संस्थाओं की भूमिका, मूल्यों को विकसित करने में परिवारिक समाज, महान नेताओं सुधार को और प्रशासकों के जीवन,
  • मानव इंटरफ़ेस, नैतिकता ; निर्धारक और परिणाम, निजी और सार्वजनिक संबंध, दर्शन नैतिकता के आयाम मानव क्रियाओं में नैतिकता का सार,
  • मूलभूत मूल्य, निष्पक्षता, गैर पक्षीता, अखंडता, सार्वजनिक सेवाओं के प्रति समर्पण, सिविल सेवा के लिए योग्यता, कमजोर वर्गों के प्रति सहानुभूति,
  • सरकार एक ऐसा कार्य बल बनाने का प्रयास करती है जो लिंग संतुलन को दर्शाता हो, भावनात्मक खुफिया, प्रशासन और शासन, अवधारणाएं और उनकी उपयोगिता और अनुप्रयोग,
  • विश्व और भारत के विचारों और दार्शनिकों का योगदान

दोस्तों यदि आपको यूपीएससी आईएएस के इस परीक्षा पाठ्यक्रम से संबंधित कोई अन्य जानकारी के बारे में जानना है तो आप यूपीएससी आईएएस की ऑफिशियल वेबसाइट www.upsc.gov.in में जाकर देख सकते हैं।

हम आशा करते हैं कि हमारे द्वारा बताया गया यह लेख आपके लिए महत्वपूर्ण और लाभदायक रहा होगा तथा इसी तरह के अन्य सिलेबस को जानने के लिए आप हमें कमेंट सेक्शन में पूछ सकते हैं यदि यह लेख आपके लिए लाभदायक रहा हो तो इसे अपने अन्य सभी दोस्तों तक पहुंचाएं। धन्यवाद।।।

NDA Syllabus And Exam Pattern In Hindi

GATE Syllabus 2022 । गेट का पाठयक्रम और परीक्षा पैटर्न सम्पूर्ण जानकारी।

SSC CGL Syllabus In Hindi And Exam Pattern | SSC CGL के बारे में सम्पूर्ण जानकारी

2 thoughts on “UPSC Syllabus In Hindi | UPSC के बारे में सारी जानकारी”

Leave a Comment