MP TET Exam Syllabus 2022 in hindi

नमस्कार दोस्तों जो भी उम्मीदवार मध्य प्रदेश में सरकारी शिक्षक या टीचर बनने के लिए सोच रहे हैं या प्राथमिक शिक्षक बनकर स्कूल के सभी छात्रों को एक नया मार्ग और जनहित में भागीदारी निभाना चाहते हैं उनके लिए मध्य प्रदेश प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड (MPPEB) ने मध्यप्रदेश में प्राइमरी स्कूल टीचर्स के लिए मध्य प्रदेश टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट (MPTET) परीक्षा जारी की है

इस परीक्षा को पास कर उम्मीदवार को एक शिक्षक के लिए अच्छा अवसर के साथ-साथ एक अच्छी नौकरी भी मिल सकती है इस पद की भर्ती में जाने से पहले उम्मीदवारों को बोर्ड द्वारा जारी सभी दस्तावेजों के बारे में जान लेना चाहिए कौन उम्मीदवार इसका आवेदन कर सकता है या कौन नहीं

अर्थात बोर्ड द्वारा जारी मानदंड और पात्रता के बारे में जान लेना चाहिए तथा इसके बाद परीक्षा पैटर्न और इस पर आधारित पाठ्यक्रम को भी जान लेना चाहिए जो हम इस लेख के माध्यम से जानेंगे तो चलिए दोस्तों हम जानते हैं इस एमपी टेट की संपूर्ण जानकारी अतः आप सभी इस लेख को अंत तक पढ़े,,,

Table of Contents

MP TET का Full Form  

MP Tet का फुल फॉर्म अंग्रेजी में Madhya Pradesh teacher eligibility test और हिंदी में शिक्षक पात्रता परीक्षा बोलते हैं l

MPPEB का Full Form

MPPEB का फुल फॉर्म अंग्रेजी में Madhya Pradesh Professional Examination Board होता है और हिंदी में मध्य प्रदेश व्यावसायिक परीक्षा बोर्ड बोलते हैं l

MP TET क्या है इस से आशय ?

दोस्तों यह एक शिक्षक की नौकरी है जिसमें शिक्षक की योग्यता के अनुसार उनकी भर्ती की जाती है तथा एमपी टेट से आशय शिक्षक पात्रता परीक्षा से है जिसमें राज्यों के स्कूलों में प्राथमिक, माध्यमिक और उच्च विद्यालय के शिक्षकों के लिए उम्मीदवारों की पात्रता निर्धारित और उनकी योग्यता सुनिश्चित करने के लिए यह परीक्षा आयोजित की जाती है l

इस परीक्षा में दो परीक्षाएं होती हैं जिसमें उम्मीदवार के इच्छा अनुसार किसी भी परीक्षा का चयन कर सकते हैं, इस दो भर्तियों को पेपर 1 वा पेपर 2 के नाम से जाना जाता है पेपर 1 उन उम्मीदवारों के लिए रखा गया है जिन्हें सिर्फ पहली से 5वी तक की कक्षा या छात्रों को पढ़ाना है और पेपर 2 उम्मीदवारों के लिए है

जिन्हें 6वीं से लेकर 8वीं तक के छात्रों को पढ़ाना है दोनों के लिए अलग-अलग पेपर आयोजित होते हैं तथा इसके साथ-साथ दिन उम्मीदवारों को पहली से लेकर 8वीं तक के छात्रों को पढ़ाना है उन्हें पेपर 1 व 2 दोनों देना होगा इन सभी पेपर को देने के लिए बोर्ड द्वारा कुछ मानदंड और पात्रता जारी किया गया है जिसे हम नीचे देखेंगे,,

MP TET के लिए जारी मानदंड और पात्रता

जो भी उम्मीदवार इस भर्ती के लिए इच्छुक हैं तो उन की जानकारी के लिए हम बता दें कि बोर्ड द्वारा कुछ मानदंड और पात्रता भी जारी हुई है 2022 में इस मांडल और पात्रता को उम्मीदवार पहले देख ले जान ले क्योंकि यदि उम्मीदवार इस की पात्रता को पूरा नहीं करते होंगे तो वह आवेदन फॉर्म को नहीं भर सकते हैं इसलिए इसे जानना बहुत जरूरी है तो चलिए जानते हैं इसके मानदंड और पात्रता को,

शैक्षणिक योग्यता –

जो भी उम्मीदवार प्राथमिक और हाईस्कूल कक्षाओं के लिए आवेदन करना चाहता है तो उनके लिए पेपर 1 व पेपर 2 दोनों के लिए अलग-अलग शैक्षणिक योग्यता जारी है जिसे हमने नीचे प्रस्तुत किया है,

प्राथमिक कक्षा के लिए जारी योग्यता –

  • जो भी उम्मीदवार आवेदन के लिए सोच रहे हैं उनके पास किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से डिप्लोमा या डिग्री होनी चाहिए l
  • तथा दूसरी योग्यता यह की उम्मीदवार द्वारा 12वीं कक्षा में कम से कम 50% से पास होना चाहिए l

माध्यमिक कक्षा के लिए जारी योग्यता –

  • सर्वप्रथम उम्मीदवार के पास मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से b.Ed की डिग्री होनी चाहिए तथा डिग्री कम से कम 50% कुल मिलाकर स्नातक होनी चाहिए l

राष्ट्रीयता –

  • उम्मीदवार को भारत का निवासी होना चाहिए l
  • तथा उम्मीदवार को मध्य प्रदेश का स्थाई निवासी होना चाहिए या फिर मध्य प्रदेश का अधिवास हो तो वे इसका आवेदन कर सकते हैं l

अनुभव –

  • इस एमपी टेट में उम्मीदवारों से किसी भी प्रकार का अनुभव की मांग नहीं की गई है l

उम्मीदवारों के लिए प्रयासों की संख्या –

  • इसमें प्रयासों पर भी कोई मानदंड जारी नहीं है उम्मीदवार की आयु के अनुसार इसका प्रयास कर सकते हैं l

आयु सीमा –

  • मध्य प्रदेश TET के लिए जारी आयु सीमा में उम्मीदवार को मानदंड पूरा करने के लिए न्यूनतम आयु 21 वर्ष की तथा अधिकतम आयु 40 वर्ष की होनी चाहिए तथा उम्मीदवार को जाति आधारित कुछ विशेष छूट भी दी जाती है जिसे हमने नीचे तालिका में प्रस्तुत किया है ,
S.N .मध्य प्रदेश टेट के लिए श्रेणियांएमपी टेट के लिए आधारित आयु सीमा
1.अनारक्षित (URL)पुरुष के लिए 40 वर्षमहिला के लिए 40 वर्ष + 5 वर्ष
2.अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग (st/sc/obc)40 वर्ष + 5 वर्ष
3.मध्य प्रदेश सरकार (सरकारी) सेवक40 वर्ष + 5 वर्ष
4.दिव्यांगजन {शारीरिक रूप से विकलांग (पीएच)}40 वर्ष + 5 वर्ष

MP TET के लिए जारी परीक्षा पैटर्न –

जो भी उम्मीदवार एमपी Tet की इस परीक्षा के लिए इच्छुक है और उन्होंने मांडल को पूरा करते हुए आवेदन फॉर्म भर दिया है तो अब उन्हें बोर्ड द्वारा जारी एमपी टेट के परीक्षा पैटर्न को जानना चाहिए क्योंकि यह बहुत आवश्यक है इसकी सहायता से उम्मीदवार को एक अच्छी योजना मिल जाएगी कि उनका पेपर कैसे लिया जाएगा और भी बहुत कुछ तो चलिए दोस्तों जानते हैं इसके परीक्षा पैटर्न को,,

  • इस परीक्षा को ऑफलाइन परीक्षा बोला जाता है अर्थात इस परीक्षा का माध्यम ऑफलाइन होता है l
  • इस परीक्षा के प्रश्न बहुविकल्पी (MCQ) आधारित होते हैं जिसमें चार विकल्प में एक विकल्प सही होता है I
  • इस परीक्षा के प्रथम पेपर जो कक्षा पहली से पांचवी तक के लिए होती है अतः इस परीक्षा में कुल 68 प्रश्न पूछे जाते हैं जिसके प्रत्येक प्रश्न 1 अंक के होते हैं और इस पूरे प्रश्न पत्र को हल करने की समय अवधि 2 घंटे 30 मिनट की होती है I
  • इस परीक्षा के द्वितीय पेपर में कुल 150 प्रश्न पूछे जाते हैं जिसके प्रत्येक प्रश्न 1 अंक के होते हैं जिसका कुल योग अंक डेढ़ सौ होता है इस पूरे प्रश्न पत्र को हल करने की समय अवधि 2 घंटे 30 मिनट की होती है l

MP TET के लिए जारी विषय सूची अंकन ( पेपर l )

क्रमांकधाराप्रश्नों की संख्याप्रश्न का अंकनसमय अवधि
1.भाषा I (अनिवार्य)3030
2.भाषा II (अनिवार्य)3030
3.बाल विकास और शिक्षाशास्त्र30302 घंटा 30 मिनट
4.वातावरण का अध्ययन3030
5.गणित3030
संपूर्ण योग150150

MP TET के लिए जारी विषय सूची अंकन ( पेपर ll )

S.Nविषय सूचीप्रश्नों की संख्याप्रश्नों का अंकनसमय अवधि
1.भाषा I (अनिवार्य है)3030
2.भाषा II (अनिवार्य है)3030
3.बाल विकास और शिक्षाशास्त्र30302 घंटा 30 मिनट
4.गणित और विज्ञान (केवल गणित और विज्ञान शिक्षक के लिए)6060
5.सामाजिक अध्ययन/सामाजिक विज्ञान (केवल सामाजिक अध्ययन/सामाजिक विज्ञान शिक्षक के लिए)6060
संपूर्ण / कुल योग150150

MP TET के लिए जारी Syllabus –

यह पाठ कर उन सभी उम्मीदवारों के लिए लाभदायक या जिन्होंने एमपी टेट का आवेदन कर दिए हैं या एमपी टेट की तैयारी शुरू करना चाहते हैं जिस उम्मीदवार ने इसके परीक्षा पैटर्न को अच्छे से जान लिया है और समझ लिया है तो उन्हें एमपी टेट के सिलेबस को जानने में कोई समस्या नहीं होगी

बोर्ड द्वारा एमपी टेट में 2 पेपर होते हैं और दोनों पेपर का सिलेबस अलग-अलग विषयों पर आधारित है जिसे हम एक व्यवस्थित तरीके से जानेंगे तो चलिए दोस्तों जानते हैं इसके पाठ्यक्रम को,

बाल विकास के लिए जारी Syllabus

  • बाल विकास की अवधारणा
  • बाल विकास का सिद्धांत
  • बाल विकास को सीखने से इसका संबंध 
  • बाल विकास की वृद्धि और इस को प्रभावित करने वाले कारक
  • बाल बच्चों के मानसिक स्वास्थ्य पर विचार
  • प्रगतिशील शिक्षा की अवधारणा
  • बाल विकास केंद्रित
  • भाषा और विचार
  • लिंग की भूमिका, लिंग के भेद भाव और शैक्षिक प्रथाएं तथा सामाजिक निर्माण के रूप में लिंग
  • शिक्षार्थियों के बीच व्यक्तिगत अंतर, समुदाय, भाषा, धर्म, लिंग, जाति आदि इन सभी के आधार पर मतभेदों को समझना
  • शिक्षार्थियों की तैयारी के लिए उपयुक्त प्रश्नों को तैयार करना,
  • कक्षा में सीखने और आलोचनात्मक सोच को बढ़ाना

कमजोर बच्चों की विशेष आवश्यकताओं को पूरा करना उन्हें समझाना जिसमें ,

  • सीखने की कठिनाइयां को संभालना
  • अक्षमता वाले बच्चों की जरूरतों को पूरा करना
  • विकलांग बच्चों को संबोधित करना
  • वंचित छात्रों को संबोधित करना

शिक्षा शास्त्र और सीखना का Syllabus

  • भावनाएं और अनुभूति
  • प्रेरणा और सीखना
  • बच्चों को सीखने के लिए अनेक उपाय
  • बच्चों की त्रुटियों को सिखाने के लिए अनेक प्रयास
  • सीखने और शिक्षण की बुनियादी प्रक्रिया
  • बच्चे कैसे सोचते हैं और सीखते हैं इसका ज्ञान
  • बच्चे कैसे और क्यों स्कूल के प्रदर्शन में सफलता पाने में वंचित रह जाते हैं कारण
  • सीखने का सामाजिक संदर्भ

भाषा l और भाषा ll Syllabus

भाषा विकास की शिक्षा शास्त्र –

  • उपचारात्मक शिक्षण
  • भाषा कौशल
  • भाषा की समाज
  • बोलना सुनना पढ़ना लिखना और प्रवीणता का मूल्यांकन करना
  • मौखिक को लिखित रूप में विचारों को व्यक्त करने के लिए भाषा सीखने में व्याकरण की भूमिका पर एक महत्वपूर्ण परिप्रेक्ष्य
  • भाषा का सिद्धांत
  • भाषा शिक्षण के सिद्धांत
  • सीखना और अधिग्रहण
  • सुनने और बोलने की भूमिका
  • भाषा क्या है भाषा का कार्य और बच्चे भाषा को एक उपकरण के रूप में कैसे उपयोग करते हैं
  • कक्षा के बहुभाषी संसाधन
  • बहु मीडिया सामग्री और शिक्षण अधिगम सामग्री

गणित का Syllabus

  • ज्यामिति
  • संख्या पद्धति
  • विभाजन
  • समय और कार्य
  • डाटा साधारण
  • प्रतिशत
  • आयतन
  • Multiplication
  • जोड़ना और घटाना
  • ब्याज
  • औसत

शैक्षणिक मुद्दे –

  • समुदायिक गणित
  • गणित की भाषा
  • पाठ्यक्रम में गणित का स्थान
  • शिक्षण की समस्या
  • सीखने और सिखाने के संबंधित पहलू

पर्यावरण अध्ययन का Syllabus

  • कार्य और खेल
  • जानवरों और पौधे
  • पर्यावरण अध्ययन
  • पर्यावरण शिक्षा
  • शिक्षण सामग्री और सहायक सामग्री
  • प्रयोग और व्यवहारिक कार्य
  • सीखने के सिद्धांत
  • विज्ञान और सामाजिक विज्ञान का संबंध
  • पर्यावरण की अवधारणा 
  • पर्यावरण का महत्व
  • पर्यावरण का एकीकृत

MP सीटेट के पेपर ll का Syllabus

बाल विकास और शिक्षाशास्त्र पाठ्यक्रम

पेपर l और पेपर ll में यह टॉपिक एक जैसा ही है जिसे हल करना सभी उम्मीदवार के लिए अनिवार्य है इस कांड के माध्यम से बाल विकास और शिक्षाशास्त्र की अवधारणा के बारे में उम्मीदवार के ज्ञान को शामिल किया जाता है, 

  • शिक्षार्थियों के बीच व्यक्तिगत अंतर जिसमें भाषा, लिंग, जाति, समुदाय और धर्म आदि की अंतर के आधार पर मतभेद को समझना
  • एक सामाजिक निर्माण के रूप में लिंग और शैक्षिक अभ्यास
  • शिक्षार्थियों की तैयारी के लिए और परीक्षा के लिए पेपर या प्रश्न पत्र को तैयार करना।
  • भाषा और विचार
  • बच्चों के विकास के लिए सिद्धांत
  • बच्चों के लिए विकास की अवधारणा है तथा उनके सीखने के साथ इसका संबंध।
  • पर्यावरण का प्रभाव और अनुवांशिकता
  • सामाजिक प्रक्रिया जिसमें समाजिक दुनिया और बच्चे, माता पिता, शिक्षक, दोस्त सभी आते हैं।
  • सीखने के आकलन, परिप्रेक्ष्य और अभ्यास

कमजोर बच्चों की विशेष आवश्यकताओं को पूरा करना उन्हें समझाना जिसमें ,

  • सीखने की कठिनाइयां को संभालना
  • अक्षमता वाले बच्चों की जरूरतों को पूरा करना
  • विकलांग बच्चों को संबोधित करना
  • वंचित छात्रों को संबोधित करना

शिक्षा शास्त्र और सीखना का Syllabus

  • भावनाएं और अनुभूति
  • प्रेरणा और सीखना
  • बच्चों को सीखने के लिए अनेक उपाय
  • बच्चों की त्रुटियों को सिखाने के लिए अनेक प्रयास
  • सीखने और शिक्षण की बुनियादी प्रक्रिया
  • बच्चे कैसे सोचते हैं और सीखते हैं इसका ज्ञान
  • बच्चे कैसे और क्यों स्कूल के प्रदर्शन में सफलता पाने में वंचित रह जाते हैं कारण
  • सीखने का सामाजिक संदर्भ

भाषा l में भाषा समझ और भाषा विकास की शिक्षा शास्त्र का Syllabus

  • भाषा समझ
  • गधे नाटक और कविता बोध, 
  • उपचारात्मक शिक्षण
  • भाषा कौशल
  • भाषा की समाज
  • बोलना सुनना पढ़ना लिखना और प्रवीणता का मूल्यांकन करना
  • मौखिक को लिखित रूप में विचारों को व्यक्त करने के लिए भाषा सीखने में व्याकरण की भूमिका पर एक महत्वपूर्ण परिप्रेक्ष्य
  • भाषा का सिद्धांत
  • भाषा शिक्षण के सिद्धांत
  • सीखना और अधिग्रहण
  • सुनने और बोलने की भूमिका
  • भाषा क्या है भाषा का कार्य और बच्चे भाषा को एक उपकरण के रूप में कैसे उपयोग करते हैं
  • कक्षा के बहुभाषी संसाधन
  • बहु मीडिया सामग्री और शिक्षण अधिगम सामग्री

भाषा ll में भाषा विकास की शिक्षा शास्त्र का Syllabus

  • समझ व्याकरण और मौखिक क्षमता पर प्रश्न के दो अनदेखी गद्दे मार्ग हैं।
  • भाषा समझ
  • गधे नाटक और कविता बोध, 
  • उपचारात्मक शिक्षण
  • भाषा कौशल
  • भाषा की समाज
  • बोलना सुनना पढ़ना लिखना और प्रवीणता का मूल्यांकन करना
  • मौखिक को लिखित रूप में विचारों को व्यक्त करने के लिए भाषा सीखने में व्याकरण की भूमिका पर एक महत्वपूर्ण परिप्रेक्ष्य
  • भाषा का सिद्धांत
  • भाषा शिक्षण के सिद्धांत
  • सीखना और अधिग्रहण
  • सुनने और बोलने की भूमिका
  • भाषा क्या है भाषा का कार्य और बच्चे भाषा को एक उपकरण के रूप में कैसे उपयोग करते हैं
  • कक्षा के बहुभाषी संसाधन
  • बहु मीडिया सामग्री और शिक्षण अधिगम सामग्री
  • उपचारात्मक शिक्षण

गणित और विज्ञान का Syllabus

  • संख्या प्रणाली
  • अनुपात और समानुपात
  • बीजगणिती का परिचय
  •  नंबरों के साथ खेलना
  • ऋण आत्मक संख्या और गुणात्मक संख्या
  • पूर्ण संख्या और भिन्न संख्या
  • ज्यामिति
  • बुनियादी ज्यामिति विचार
  • समरूपता
  • प्रारंभिक आकृतियों को समझना
  • डाटा संधारण
  • क्षेत्रमिति
  • निर्माण अर्थात विमानों का उपयोग करना जैसे चांदा पटरी आदि
  • गणित यह तार्किक सोच की प्रकृति
  • मूल्यांकन और सामुदायिक गणित
  • गणित की परिभाषा और शिक्षण की समस्या

विज्ञान का Syllabus

  • भोजन के स्रोत तथा भोजन के अवयव
  • दैनिक उपयोगी सामग्रियां
  • विद्युत प्रवाह और सर्किट
  • मैग्नेट या चुंबकत्व
  • दृष्टिकोण और एकीकृत दृष्टिकोण
  • विज्ञान की प्रकृति और संरचना
  • विज्ञान को समझना
  • विज्ञान की सराहना करना
  • उपचारात्मक शिक्षण

 सामाजिक विज्ञान का Syllabus

  • भारत का इतिहास : कब कहां और कैसे, पहला साम्राज्य, पहले शहर, पहले किसान और चरवाहे, सबसे पुराने समाज, दिल्ली के सुल्तान, आजादी के बाद भारत, राष्ट्रवादी आंदोलन, महिला और सुधार, 1857 का विद्रोह, ग्रामीण जीवन समाज, कंपनी पावर की स्थापना, सामाजिक बदलाव, कृषि या एग्रीकल्चर, संस्कृति और विज्ञान, राजनीतिक विज्ञान, दूरस्थ भूमि के साथ संपर्क, नए विचार, जाति व्यवस्था को चुनौती, जनजाति समाज
  • भूगोल : भूगोल में सामाजिक अध्ययन और विज्ञान का अध्ययन, ग्रह और सौर मंडलों का अध्ययन, वायु पानी कृषि, मानव पर्यावरण में बनावट परिवहन और संचार का माध्यम, संसाधन जैसे प्राकृतिक मानव आदि

सामाजिक और राजनीतिक जीवन का Syllabus

  • संविधान
  • न्यायपालिका
  • संसदीय सरकार
  • सामाजिक न्याय
  • मीडिया को समझना
  • विविधता
  • लिंक खोलाना
  •  स्थानीय सरकार
  • समाजिक विज्ञान और सामाजिक विज्ञान और उनकी अवधारणाओं का अध्ययन करना
  • क्लासरूम प्रक्रिया को समझना
  • पूछताछ छात्रों से करना
  • आलोचनात्मक सोच को जन्म देना
  • परियोजनाएं कार्य और मूल्यांकन

MP TET के इस पाठ्यक्रम और परीक्षा पैटर्न तथा TET की पात्रता और मानदंड से जुड़े और कोई जानकारी के बारे में जानना है तो इसकी ऑफिसियल वेबसाइट http://www.peb.mp.gov.in में जाकर देख सकते हैं।

हमारे द्वारा प्रस्तुत MP TET 2022 का सिलेबस के ऊपर यह आर्टिकल आपको कैसा लगा हम आशा करते हैं कि यह आर्टिकल आपके लिए लाभदायक होगा अतः आप से अनुग्रह है कि यह लेख को अपने अन्य सभी दोस्तों तक पहुंचाएं तथा इसका फीडबैक हमें कमेंट करके जरूर बताए धन्यवाद।।।

CTET Syllabus In Hindi | सीटेट के बारे में संपूर्ण जानकारी

UP Super TET Syllabus 2022 In Hindi

UPTET Syllabus and Exam Pattern

Leave a Comment