Market Cap क्या होता है | Market Cap कितने प्रकार के होते है

दोस्तो Market Cap जिसे हम Market Capitalization कहते है ये हमे बताता है की एक Company की Market Value कितनी है दोस्तो अगर आपको किसी Company की Market Value निकालनी हो तो आपको उस Company के Current Shares Price को उस Company के Total No of Shares से Multiply करना होता है ।

उदाहरण के लिए मान लीजिए की अगर एक Company की Share Price 100 ₹ है और Company के पुरे 10,000 Shares है तो Company का Market Capitalization हो जायेगा 100*10,000 = ₹1000000 यानी अगर आपको इस Company को आज खरीदना है तो आपको आज 1,00000 ₹ देने होगे ।

एक Company जब शुरु होती है तो उसका Market Cap बहोत कम होता है और जब वो Company Grow करती है तो उसके Shares की Price भी बढती है तो इस वजह सें Company का Market Cap भी बढता जाता है ।
तो आपको अब समझ में आ गया होगा की Market Cap क्या होता है ये कुछ नही Company की Market Value होता है ।

Market Caps के कितने प्रकार होते है?

Market Caps कें प्रकार –

1.Large Cap Companies – दोस्तो Top 1 सें लेकर 100 Market Cap वाले Companies को Large Cap कहा जाता है दोस्तो इन Companies मे Risk और Returns दोनो भी कम होते है क्यूकी ये Companies well developed होती है Large Cap Companies को Blue Stocks Companies भी कहते है Large Cap Companies ज्यादा Returns नही दे पाती है क्यूकी ये पहले से ही बहोत बडी हो गयी होती है और अब इनकी Growth Speed भी पहले से से Slow हो जाती है ।

2.MidCap Companies – दोस्तो 101 सें लेकर 250 तक Market Cap वाले Companies को Mid Cap कहा जाता है इन Companies मे Risk और Returns Generally High होता है Mid Caps Companies Size मे Large Cap से छोटी होती है इसलिये इनकी Grow करने की Possibility ज्यादा होती है और जिनके कारन इन Companies मे अच्छे Returns मिल सकते है ।

3.Small Cap Companies – दोस्तो 251 और उनसे नीचे कें सारे Companies को Small Cap कहा जाता है इनमे Risk और Returns दोनो भी Generally बहोत High होते है Small Cap Companies बहोत छोटी होती है ये Companies अपने Business के Early Stage मे होती है ये Companies बहोत Speed सें Grow भी कर सकती है लेकिन अपने गलती के वजह से डूब भी सकती है इन Companies मे Risk भी बहोत High होता है।

Leave a Comment