Local Areal Network (LAN )क्या है और इसके क्या लाभ हैं? | लोकल एरिया नेटवर्क कितने प्रकार के होते हैं?

Local Areal Network (LAN )क्या है
Local Areal Network (LAN )क्या है

नमस्कार दोस्तों आज बढ़ती टेक्नोलॉजी को देखते हुए कंप्यूटर की संख्या बढ़ती ही जा रही है आज कोई भी स्कूल,कारखाना,उद्योग, बिजनेस कोई भी प्लांट हो जिस पर मेंटेनेंस का कार्य होता है उन जगहों पर कंप्यूटर का उपयोग होने लगा है

अतः कंप्यूटर के इस दौर में हमें कंप्यूटर से जुड़ी संपूर्ण जानकारी का ज्ञान होना चाहिए इन सब में एक है ‘लोकल एरिया नेटवर्क’ (LAN) जिसके बारे में हम इस लेख में अध्ययन करेंगे अतः इस लेख को अंत तक पढ़ें और हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपको कैसी लगी यह भी कमेंट बॉक्स पर फीडबैक के रूप में जरूर दें।

Local Areal Network (LAN )क्या है ?

Lan ka full form Local Areal Network होता है लोकल एरिया नेटवर्क अर्थात जिसके नेटवर्क का विस्तार लंबे क्षेत्र के लिए ना हो, यह एक ऐसा नेटवर्क है जो दो या दो से अधिक डिवाइस से मिलकर बनता है यह कई डिवाइशो को जोड़कर कंप्यूटर में ले जाता है या दो कंप्यूटर के बीच में भी व्यवस्थापित्त किया जा सकता है इसके अलावा हजारों कंप्यूटर में भी व्यवस्थापित्त किया जा सकता है

इसके Area की बात करें तो यह 500 मीटर से 1000 मीटर तक की रेंज मेंटेन रखता है यह आमतौर पर office, home, airport, organization, school, collage, business या बिल्डिंग  इनके एक समूह के लिए किया जाता है तथा यह हमारे उपयोग पर भी आधारित होता है कि हम इसे समूहों पर जुड़ना चाहते हैं या नहीं,या हमें कितने कंप्यूटर जोड़ना है इस नेटवर्क को जोड़ने के लिए हमें स्विच या हब जिसमें Rj45 कनेक्टर लगा हो उसके जरिए कनेक्ट कर सकते हैं।

LAN (local areal network ) का इतिहास

यदि देखा जाए तो इसके इतिहास के ऊपर विभिन्न विकल्प है लेकिन हम इसे संक्षिप्त में जानने की कोशिश करते हैं।

यह बात है सन 1960 के दशक की जब 1 विश्वविद्याल में बड़ी मात्रा में कंप्यूटर की स्थापना की जा रही थी लेकिन स्थापित करने के पश्चात उन्हें जरूरत थी इन कंप्यूटर के बीच इंटरनेट स्पीड की, इसके ऊपर 1970 से लेकर 1973 तक इंजीनियरों  द्वारा कई सारी तकनीकों का प्रयोग किया गया लेकिन कुछ भी हल नहीं निकला तत्पश्चात सन 1973 और 1974 के दौरान XEROX PARC नामक कंपनी ने इंटरनेट को विकसित किया,

विकसित करने के बाद इस कंपनी ने इसे सर्वप्रथम व्यवसाय के रूप में इसका इस्तेमाल NEWYORK के chasemanhation नामक बैंक में किया और यह नेटवर्क सफल रहा सन 1979 में यूरोप में यूरोपीय सांसद का इलेक्शन चालू हुआ जिसमें पहली बार इलेक्ट्रॉनिक मतदान करवाया गया जिस पर सैकड़ों माइक्रोप्रोसेसर को नियंत्रित करना था वहां पर भी इसका प्रयोग हुआ और यह Ethernet द्वारा LAN की पहली स्थापना थी फिर समय बदलता गया और धीरे-धीरे इसमें सुधार होता गया और आज इसे व्यापक रूप से उपयोग में लिया जाने लगा है।

वेब होस्टिंग क्या है और कैसे काम करता है

Network क्या है ?

चलिए जानते नेटवर्क होता क्या है जब आधुनिक युग में हमारा भारत इतना विकसित ना था कि हम एक से दूसरे को संदेश भेज सकें लोगों को कई दिन लग जाते थे अपना संदेश दूसरों तक पहुंचाने में अतः जैसे जैसे हमारे देश में टेक्नोलॉजी का विकास हुआ वैसे ही कई ऐसे नेटवर्किंग के माध्यम से संदेश भेजने वाला उपकरणों का अविष्कार हुआ जिसमें से एक है ‘Computer’

आज उसी नेटवर्क को एक दूसरे तरीके से भी जाना जाता है जैसे कि दो या दो से अधिक कंप्यूटर यदि किसी माध्यम से जुड़े हैं तो उसे नेटवर्क कहते हैं चाहे फिर वह wire से जुड़ा हो या wireless हो।

LAN कितने प्रकार के होते हैं ?

Local areal network के मुख्य दो प्रकार होते हैं जिसके बारे में हम जानेंगे।

  • Cabal local areal network,
  • Wireless local areal network,

1. केबल लोकल एरिया नेटवर्क– इस प्रकार का नेटवर्क जो कि एक केबल के माध्यम से जुड़ा होता है अर्थात किसी एक कंप्यूटर के साथ दूसरा कंप्यूटर भी उसी Cable से जुड़ा हो सकता है और उसी के साथ प्रिंटर,स्कैनर,माउस,कीबोर्ड, आदि जुड़े होते हैं इस तरह में एक खतरा भी उत्पन्न हो सकता है जैसे केवल के टूट जाने का या मुड़ जाने का,ये सारी समस्या इसमें होती है।

2. वायरलेस लोकल एरिया नेटवर्क – इस प्रकार के नेटवर्क में वायर का प्रयोग नहीं किया जाता बल्कि एक वायरलेस कंप्यूटर नेटवर्क संचार का उपयोग कर दो या दो से अधिक कंप्यूटर को जोड़ा जाता है लेकिन इसके साथ भी एक समस्या होती है क्योंकि इसका रेंज / क्षेत्र सीमित रहता है पर यह Cable लोकल एरिया नेटवर्क के मुकाबले ज्यादा सही होता है।

LAN में इस्तेमाल होने वाले उपकरण

इसमें कई सारे उपकरणों का इस्तेमाल किया जाता है जो निम्नलिखित है।

  • केबल (Cable)
  • मॉडेम (modem)
  • स्विच (switch)
  • राउटर (Rautar)
  • केबल (Cable)-केबल का इस्तेमालतब किया जाता है जब वह वायरलेस के रेंज से ज्यादा दूर होता है जैसे कि बड़े-बड़े महानगरों को एक साथ जोड़ना,शहरों को एक साथ जोड़ना या गांव को एक साथ जोड़ना इन सब को एक साथ जोड़ने में Cable का बहुत बड़ा योगदान रहा है क्योंकि इतनी बड़ी रेंज मेंटेन कर पाना वायरलेस के बस में नहीं है इसलिए इसमें वायर का बहुत बड़ा योगदान रहता है बिना केबल के इंटरनेट या नेटवर्क को स्थापित कर पाना नामुमकिन है कई सारे कंप्यूटर को एक साथ जोड़ने के लिए मुख्य तीन तरह की तार या केवल का उपयोग किया जाता है जो खासतौर पर नेटवर्किंग के लिए बनाई जाती हैं।
  • Coxial cable
  • Twisted pair cable
  • Fiber optic cable
  • मॉडेम (modem)– यह डिवाइस है जिसका कार्य एनालॉग सिगनल को डिजिटल सिगनल तथा डिजिटल सिग्नल को एनालॉग सिगनल में कन्वर्ट करना होता है इसका उपयोग अधिकतर टेलीफोन वायर में किया जाता है।
  • स्विच (switch)– स्विच भी एक उपकरण ही है जो लेयर पर कार्य करता है अर्थात इसका उपयोग Hub के स्थान पर इसलिए किया जाता है क्योंकियहhub की तुलना में ज्यादा इंटेलिजेंट होता है और आने वाले डाटा को अपने डेस्टिनेशन तक भेजता है इसलिए इसे अब hub के स्थान पर उपयोग किया जाता है।
  • राउटर (Rautar)– राउटर भी एक यंत्र है जिसका प्रयोग डाटा को भेजने के लिए किया जाता है अर्थात एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर तक डाटा ट्रांसफर का कार्य करता है तथा राउटर एक जंक्शन की तरह कार्य करता है इस से कई नेटवर्क  डेस्टिनेशन के लिए गुजरते है।

LAN कितने रेंज / क्षेत्र तक कार्य करता है ?

यह तो हम जान ही चुके हैं कि LAN होता क्या है अर्थात दो या दो से अधिक कंप्यूटररिंग नेटवर्क या डिवाइस के जुड़ने से LAN स्थापित होता है कुछ डिवाइस ऐसे होते हैं जैसे कि प्रिंटर, स्कैनर आदि जो LAN से permanent जुड़े होते हैं और वहीं कुछ डिवाइस ऐसे भी होते हैं जो सिर्फ temporary जुड़े रहते हैं जैसे कि computer, mobile, laptop, यह तीनों को एक साथ कहीं भी कनेक्ट तथा डिस्कनेक्ट किया जा सकता है और इन्हीं तरह के दो डिवाइस जुड़कर LAN बनाते हैं और LAN का क्षेत्र भी निर्धारित रहता है कि आप इस में अधिकतम कितने डिवाइस को जोड़ सकते हैं और इसका रेंज क्षेत्र अधिकतम कितना होता है ।

LAN की विशेषताएं

1.LAN एक private (निजी) network है इसमें सरकार का कोई हाथ नहीं होता।

2. इस नेटवर्क को व्यवस्थापित या बैठाना बहुत ही आसान होता है।

3. क्योंकि यह लोकल एरिया नेटवर्क है तो हम इसके रेंज  में रहकर कई सारे कंप्यूटर को जोड़ सकते हैं ।

4. यह नेटवर्क सिर्फ लघु और मध्य क्षेत्रों के लिए है।

5. यह नेटवर्क ज्यादा प्रसिद्ध नेटवर्क है इसलिए हमारे स्कूल, कॉलेज, दफ्तरों, बिजनेस पर्पस के लिए इसका उपयोग करते हैं।

LAN से क्या लाभ होते हैं

LAN का उपयोग कई सारे कंप्यूटर को जोड़ने में किया जाता है या फिर एक कंप्यूटर से कई सारे डिवाइस जोड़ने में भी किया जाता है इसका फायदा तभी देखने को मिलेगा जब एक साथ कई सारे उपकरण या डिवाइस जुड़े हो और डिवाइस एकल इंटरनेट कनेक्टेड का उपयोग करते हो जब कंप्यूटर एक दूसरे से जुड़े हो तब हम फाइल, डाक्यूमेंट्स, और अन्य जानकारी साझा कर सकते हैं

जब कंप्यूटर से डिवाइस कनेक्टेड हो तब हम प्रिंटर से प्रिंट कर सकते हैं स्केनर से डॉक्यूमेंट या अन्य डॉक्यूमेंट स्कैन कर सकते हैं और बाकी उपकरणों को सुरक्षित तथा  नियंत्रण रख सकते हैं।

धन्यवाद LAN से जुड़ी संपूर्ण जानकारी हमने आप तक पहुंचा चाहिए यदि आपको इससे जुड़ी कोई अन्य जानकारी के बारे में जानना है तो हमें कमेंट बॉक्स पर जरूर बताएं तथा यह लेख पढ़कर आपको कैसा अनुभव तथा ज्ञान मिला अर्थात यह लेख आपके लिए कैसा था इसका फीडबैक जरूर दें धन्यवाद !!!

Computer क्या होता है और Computer कितने प्रकार के होते हैं?

Leave a Comment