CTET Syllabus In Hindi | सीटेट के बारे में संपूर्ण जानकारी

CTET Syllabus In Hindi – नमस्कार दोस्तों इस लेख के माध्यम से हम CBSC CTET के पाठयक्रम (Syllabus) बारे में जानेंगे यह एक शिक्षक के लिए आयोजित की गई प्रतियोगिता है यह सिलेबस उन सभी उम्मीदवारों के लिए महत्वपूर्ण है जो सीटेट की परीक्षा को पास कर शिक्षक/शिक्षिका बनना चाहते हैं

इस लेख के माध्यम से हम Cbse CTET के लिए जारी पात्रता (Eligibility) और मानदंड (Criteria) Exam Pattern तथा इसका पाठ्यक्रम (Syllabus) से जुड़ी और भी अन्य जानकारी के बारे में जानेंगे तो चलिए शुरू करते हैं इस लेख को-

CBSC CTET से आशय

CTET का फुल फॉर्म अंग्रेजी में Central Teacher Eligibility Test और हिंदी में केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा तथा CBSC का फुल फॉर्म केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड होता है,।

CTET , CBSC board द्वारा आयोजित एक राष्ट्रीय परीक्षा है जो भी अभ्यार्थी या उम्मीदवार शिक्षक बनना चाहते हैं तो सीबीएसई द्वारा साल में दो बार CTET की परीक्षा आयोजित की जाती है

जिसके परीक्षा पेपर l और पेपर ll, सत्रों में आयोजित होते हैं तथा यह दोनों पेपर अलग-अलग कक्षाओं पर आधारित है अर्थात पेपर 1 उम्मीदवारों के लिए जो कक्षा पहली से पांचवी तक के बच्चों को पढ़ाना चाहते हैं तथा पेपर ll उन सभी उम्मीदवारों के लिए है जो कक्षा 6वी से 8वीं तक के छात्रों को पढ़ाना चाहते हैं

लेकिन जो उम्मीदवार कक्षा पहली से लेकर आठवीं तक के सभी छात्रों को पढ़ाना चाहते हैं उन्हें इन दोनों पेपरों को पास करना होगा।

CTET की पात्रता और मानदंड

हम सभी उम्मीदवारों से आग्रह करते हैं की सीटेट 2022 परीक्षा का आवेदन करने से पहले आप एक बार सीटेट की पात्रता और मानदंड को देख ले और यह सुनिश्चित कर लें कि आप उसके पात्रता और मानदंड को पूरा कर पा रहे हैं या नहीं क्या आप उसके योग्य है या नहीं यदि आप इस के योग्य हैं तो ही इसके आवेदन को भरें तो चलिए जानते हैं इसकी पात्रता और मानदंड,

शैक्षिक योग्यता – जो भी उम्मीदवार पेपर l वह पेपर ll या फिर दोनों पेपरों के लिए आवेदन कर रहे हैं तो उनके पास प्रारंभिक शिक्षा में 2 वर्ष का डिप्लोमा होना चाहिए।

आयु सीमा – इस सी टेट के एग्जाम देने के लिए आयु का कोई प्रतिबंध नहीं है उम्मीदवार अपनी इच्छा अनुसार कभी भी आवेदन कर सकते हैं हालांकि उम्मीदवार को कम से कम 17 वर्ष का तो होना ही चाहिए और अधिकतम की कोई सीमा निर्धारित नहीं है।

राष्ट्रीयता – उम्मीदवार को भारत का निवासी या नागरिक होना चाहिए।

जो भी उम्मीदवार आरक्षित श्रेणी में आते हैं जैसे SC/ST और पीडब्ल्यूडी तो उन्हें शैक्षिक योग्यता में 5% अंकों की छूट मिलेगी लेकिन आवश्यकता पड़ने पर।

CTET Exam Pattern – 2022

यह परीक्षा पैटर्न उन सभी उम्मीदवारों के लिए है जो सीटेट की परीक्षा के लिए सोच रहे हैं या तैयारी कर रहे हैं तथा जो उम्मीदवार सीटेट की परीक्षा पात्रता और मानदंड को पूरा करते हैं तब उन्हें इसके परीक्षा पैटर्न को जानना समझना चाहिए क्योंकि हम आपको वही बताएंगे जो परीक्षा के समय होगा अर्थात पेपर की समय अवधि, अंकन योजना, विषयों के तथा और भी तो चलिए जानते हैं इसके परीक्षा पैटर्न को,,,

  • सीटेट की परीक्षा का मोड ऑनलाइन रहेगा चाहे वह पेपर l का हो या पेपर ll का कोई भी हो।
  • सीटेट के पेपर को हल करने के लिए 2 भाषाएं दी जाएंगी हिंदी और अंग्रेजी इनमें से उम्मीदवार को किसी एक भाषा का चयन करके पेपर हल करना होता है।
  • सीटेट की परीक्षा पेपर को हल करने के लिए 2 घंटा 30 मिनट का समय दिया जाता है।
  • सीटेट के दोनों पेपर में किसी भी प्रकार की कोई भी नेगेटिव मार्किंग नहीं होती है।
Contentसीटीईटी पेपर lसीटीईटी पेपर ll
परीक्षा मोडऑनलाइन माध्यमऑनलाइन माध्यम
विषयों/अनुभागों की संख्या54
विषयों के नामबाल विकास और शिक्षाशास्त्रभाषा-Iभाषा-द्वितीयगणित औरपर्यावरण अध्ययनबाल विकास और शिक्षाशास्त्रभाषा-Iभाषा-द्वितीयगणित और विज्ञान या सामाजिक अध्ययन/सामाजिक विज्ञान
परीक्षा की समय अवधि2.5 घंटा (150 मिनट)2.5 घंटा (150 मिनट)
कुल प्रश्न150150
प्रश्नों के प्रकारबहुविकल्पी वस्तुनिष्ठ प्रश्न रहेंगेबहु बहुविकल्पी वस्तुनिष्ठ प्रश्न रहेंगे
कुल अंक150150
अंकन योजनासही उत्तर के लिए 1 अंक दिया जाएगासही उत्तर के लिए एक अंक दिया जाएगा
नेगेटिव मार्किंगकोई भी मार्किंग नहींकोई भी मार्किंग नहीं
कागज की भाषाअंग्रेजी और हिंदी अंग्रेजी और हिंदी (उम्मीदवार किसी भी भाषा में पेपर लिख सकते हैं) 

CTET पेपर I के लिए अंकन योजना

सीबीएसई सीटेट पेपर I मे कुल 150 बहुविकल्पी प्रश्न पूछे जाते हैं जो एमसीक्यू आधारित होते हैं जिसमें प्रत्येक प्रश्न एक अंक का होता है कुछ 150 अंक होते हैं जिसका उल्लेख नीचे हमने तालिका के रूप में प्रस्तुत किया है।

सीबीएसई सीटीईटी पेपर l विषय सूचीप्रश्नों की संख्याकुल अंक
बाल विकास और शिक्षाशास्त्र3030
भाषा- I (सभी के लिए अनिवार्य)3030
भाषा- II (सभी के लिए अनिवार्य)3030
गणित3030
पर्यावरण अध्ययन3030
टोटल योग150150

CTET पेपर II के लिए अंकन योजना

Cbse CTET के पेपर I के सामान्य ही पेपर II में भी 150 प्रश्न ही पूछे जाते हैं जो कंप्यूटर आधारित बहुविकल्पी प्रश्न होते हैं इस प्रत्येक प्रश्न के सही होने पर एक अंक दिया जाता है ऐसे 150 प्रश्न का कुल योग 150 अंक का होगा

पेपर II के इस पूरे पेपर को हल करने के लिए 150 मिनट की समय अवधि दी जाती है तथा पेपर II के विषय का अंकन योजना हमने नीचे दी गई तालिका में सूचीबद्ध किया हुआ है।

सीबीएसई सीटीईटी पेपर ll विषय सूचीप्रश्नों की संख्याकुल अंक
बाल विकास और शिक्षाशास्त्र (सभी के लिए अनिवार्य)3030
भाषा- I (सभी के लिए अनिवार्य)3030
भाषा- II (सभी के लिए अनिवार्य)3030
गणित और विज्ञानयासामाजिक अध्ययन / सामाजिक विज्ञान और सामाजिक अध्ययन / सामाजिक विज्ञान शिक्षक के लिए6060
टोटल योग150150

CTET Syllabus Paper 1 And Paper 2

CTET के पेपर I वा पेपर II के पाठ्यक्रम (Syllabus) को हमने अलग अलग करके नीचे बताया है तथा जो उम्मीदवार सीबीएसई सीटेट के मानदंड और पात्रता को पूरा करते हैं तथा इसके परीक्षा पैटर्न को देख लिया है तो उन्हें अब इससे जुड़े पाठ्यक्रम अर्थात परीक्षा में पूछे जाने वाले प्रश्नों के विषयों को जानना चाहिए

उम्मीदवार इस पाठ्यक्रम की सहायता से सीटेट के पेपर की तैयारी अच्छे से कर सकते हैं आपको यह पाठ्यक्रम सफलता दिलाने में मददगार होगा तो चलिए देखते हैं इसके पाठ्यक्रम को,,

CTET Syllabus Paper 1

बाल विकास का पाठ्यक्रम –

  • शिक्षार्थियों के बीच व्यक्तिगत अंतर जिसमें भाषा, लिंग, जाति, समुदाय और धर्म आदि की अंतर के आधार पर मतभेद को समझना
  • एक सामाजिक निर्माण के रूप में लिंग और शैक्षिक अभ्यास
  • शिक्षार्थियों की तैयारी के लिए और परीक्षा के लिए पेपर या प्रश्न पत्र को तैयार करना।
  • भाषा और विचार
  • बच्चों के विकास के लिए सिद्धांत
  • बच्चों के लिए विकास की अवधारणा है तथा उनके सीखने के साथ इसका संबंध।
  • पर्यावरण का प्रभाव और अनुवांशिकता
  • सामाजिक प्रक्रिया जिसमें समाजिक दुनिया और बच्चे, माता पिता, शिक्षक, दोस्त सभी आते हैं।
  • सीखने के आकलन, परिप्रेक्ष्य और अभ्यास

कमजोर बच्चों की विशेष आवश्यकताओं को पूरा करना उन्हें समझाना जिसमें

  • सीखने की कठिनाइयां को संभालना
  • अक्षमता वाले बच्चों की जरूरतों को पूरा करना
  • विकलांग बच्चों को संबोधित करना
  • वंचित छात्रों को संबोधित करना

 शिक्षा शास्त्र और सीखना का पाठ्यक्रम –

  • भावनाएं और अनुभूति
  • प्रेरणा और सीखना
  • बच्चों को सीखने के लिए अनेक उपाय
  • बच्चों की त्रुटियों को सिखाने के लिए अनेक प्रयास
  • सीखने और शिक्षण की बुनियादी प्रक्रिया
  • बच्चे कैसे सोचते हैं और सीखते हैं इसका ज्ञान
  • बच्चे कैसे और क्यों स्कूल के प्रदर्शन में सफलता पाने में वंचित रह जाते हैं कारण
  • सीखने का सामाजिक संदर्भ

भाषा l और भाषा ll का Syllabus

भाषा विकास की शिक्षा शास्त्र –

  • उपचारात्मक शिक्षण
  • भाषा कौशल
  • भाषा की समाज
  • बोलना सुनना पढ़ना लिखना और प्रवीणता का मूल्यांकन करना
  • मौखिक को लिखित रूप में विचारों को व्यक्त करने के लिए भाषा सीखने में व्याकरण की भूमिका पर एक महत्वपूर्ण परिप्रेक्ष्य
  • भाषा का सिद्धांत
  • भाषा शिक्षण के सिद्धांत
  • सीखना और अधिग्रहण
  • सुनने और बोलने की भूमिका
  • भाषा क्या है भाषा का कार्य और बच्चे भाषा को एक उपकरण के रूप में कैसे उपयोग करते हैं
  • कक्षा के बहुभाषी संसाधन
  • बहु मीडिया सामग्री और शिक्षण अधिगम सामग्री

गणित का पाठ्यक्रम –

  • ज्यामिति
  • संख्या पद्धति
  • विभाजन
  • समय और कार्य
  • डाटा साधारण
  • प्रतिशत
  • आयतन
  • Multiplication
  • जोड़ना और घटाना
  • ब्याज
  • औसत

शैक्षणिक मुद्दे –

  • समुदायिक गणित
  • गणित की भाषा
  • पाठ्यक्रम में गणित का स्थान
  • शिक्षण की समस्या
  • सीखने और सिखाने के संबंधित पहलू

पर्यावरण अध्ययन का पाठ्यक्रम –

  • कार्य और खेल
  • जानवरों और पौधे
  • पर्यावरण अध्ययन
  • पर्यावरण शिक्षा
  • शिक्षण सामग्री और सहायक सामग्री
  • प्रयोग और व्यवहारिक कार्य
  • सीखने के सिद्धांत
  • विज्ञान और सामाजिक विज्ञान का संबंध
  • पर्यावरण की अवधारणा 
  • पर्यावरण का महत्व
  • पर्यावरण का एकीकृत

CTET Syllabus Paper 2

बाल विकास और शिक्षाशास्त्र पाठ्यक्रम-

पेपर l और पेपर ll में यह टॉपिक एक जैसा ही है जिसे हल करना सभी उम्मीदवार के लिए अनिवार्य है इस कांड के माध्यम से बाल विकास और शिक्षाशास्त्र की अवधारणा के बारे में उम्मीदवार के ज्ञान को शामिल किया जाता है

  • शिक्षार्थियों के बीच व्यक्तिगत अंतर जिसमें भाषा, लिंग, जाति, समुदाय और धर्म आदि की अंतर के आधार पर मतभेद को समझना
  • एक सामाजिक निर्माण के रूप में लिंग और शैक्षिक अभ्यास
  • शिक्षार्थियों की तैयारी के लिए और परीक्षा के लिए पेपर या प्रश्न पत्र को तैयार करना।
  • भाषा और विचार
  • बच्चों के विकास के लिए सिद्धांत
  • बच्चों के लिए विकास की अवधारणा है तथा उनके सीखने के साथ इसका संबंध।
  • पर्यावरण का प्रभाव और अनुवांशिकता
  • सामाजिक प्रक्रिया जिसमें समाजिक दुनिया और बच्चे, माता पिता, शिक्षक, दोस्त सभी आते हैं।
  • सीखने के आकलन, परिप्रेक्ष्य और अभ्यास

कमजोर बच्चों की विशेष आवश्यकताओं को पूरा करना उन्हें समझाना जिसमें

  • सीखने की कठिनाइयां को संभालना
  • अक्षमता वाले बच्चों की जरूरतों को पूरा करना
  • विकलांग बच्चों को संबोधित करना
  • वंचित छात्रों को संबोधित करना

 शिक्षा शास्त्र और सीखना का पाठ्यक्रम –

  • भावनाएं और अनुभूति
  • प्रेरणा और सीखना
  • बच्चों को सीखने के लिए अनेक उपाय
  • बच्चों की त्रुटियों को सिखाने के लिए अनेक प्रयास
  • सीखने और शिक्षण की बुनियादी प्रक्रिया
  • बच्चे कैसे सोचते हैं और सीखते हैं इसका ज्ञान
  • बच्चे कैसे और क्यों स्कूल के प्रदर्शन में सफलता पाने में वंचित रह जाते हैं कारण
  • सीखने का सामाजिक संदर्भ

भाषा l में भाषा समझ और भाषा विकास की शिक्षा शास्त्र का पाठ्यक्रम –

  • भाषा समझ
  • गधे नाटक और कविता बोध, 
  • उपचारात्मक शिक्षण
  • भाषा कौशल
  • भाषा की समाज
  • बोलना सुनना पढ़ना लिखना और प्रवीणता का मूल्यांकन करना
  • मौखिक को लिखित रूप में विचारों को व्यक्त करने के लिए भाषा सीखने में व्याकरण की भूमिका पर एक महत्वपूर्ण परिप्रेक्ष्य
  • भाषा का सिद्धांत
  • भाषा शिक्षण के सिद्धांत
  • सीखना और अधिग्रहण
  • सुनने और बोलने की भूमिका
  • भाषा क्या है भाषा का कार्य और बच्चे भाषा को एक उपकरण के रूप में कैसे उपयोग करते हैं
  • कक्षा के बहुभाषी संसाधन
  • बहु मीडिया सामग्री और शिक्षण अधिगम सामग्री

भाषा ll में भाषा विकास की शिक्षा शास्त्र का पाठ्यक्रम –

समझ व्याकरण और मौखिक क्षमता पर प्रश्न के दो अनदेखी गद्दे मार्ग हैं।

  • भाषा समझ
  • गधे नाटक और कविता बोध, 
  • उपचारात्मक शिक्षण
  • भाषा कौशल
  • भाषा की समाज
  • बोलना सुनना पढ़ना लिखना और प्रवीणता का मूल्यांकन करना
  • मौखिक को लिखित रूप में विचारों को व्यक्त करने के लिए भाषा सीखने में व्याकरण की भूमिका पर एक महत्वपूर्ण परिप्रेक्ष्य
  • भाषा का सिद्धांत
  • भाषा शिक्षण के सिद्धांत
  • सीखना और अधिग्रहण
  • सुनने और बोलने की भूमिका
  • भाषा क्या है भाषा का कार्य और बच्चे भाषा को एक उपकरण के रूप में कैसे उपयोग करते हैं
  • कक्षा के बहुभाषी संसाधन
  • बहु मीडिया सामग्री और शिक्षण अधिगम सामग्री
  • उपचारात्मक शिक्षण

गणित और विज्ञान का पाठ्यक्रम –

  • संख्या प्रणाली
  • अनुपात और समानुपात
  • बीजगणिती का परिचय
  •  नंबरों के साथ खेलना
  • ऋण आत्मक संख्या और गुणात्मक संख्या
  • पूर्ण संख्या और भिन्न संख्या
  • ज्यामिति
  • बुनियादी ज्यामिति विचार
  • समरूपता
  • प्रारंभिक आकृतियों को समझना
  • डाटा संधारण
  • क्षेत्रमिति
  • निर्माण अर्थात विमानों का उपयोग करना जैसे चांदा पटरी आदि
  • गणित यह तार्किक सोच की प्रकृति
  • मूल्यांकन और सामुदायिक गणित
  • गणित की परिभाषा और शिक्षण की समस्या

विज्ञान का पाठ्यक्रम –

  • भोजन के स्रोत तथा भोजन के अवयव
  • दैनिक उपयोगी सामग्रियां
  • विद्युत प्रवाह और सर्किट
  • मैग्नेट या चुंबकत्व
  • दृष्टिकोण और एकीकृत दृष्टिकोण
  • विज्ञान की प्रकृति और संरचना
  • विज्ञान को समझना
  • विज्ञान की सराहना करना
  • उपचारात्मक शिक्षण

 सामाजिक विज्ञान का पाठ्यक्रम –

  • भारत का इतिहास : कब कहां और कैसे, पहला साम्राज्य, पहले शहर, पहले किसान और चरवाहे, सबसे पुराने समाज, दिल्ली के सुल्तान, आजादी के बाद भारत, राष्ट्रवादी आंदोलन, महिला और सुधार, 1857 का विद्रोह, ग्रामीण जीवन समाज, कंपनी पावर की स्थापना, सामाजिक बदलाव, कृषि या एग्रीकल्चर, संस्कृति और विज्ञान, राजनीतिक विज्ञान, दूरस्थ भूमि के साथ संपर्क, नए विचार, जाति व्यवस्था को चुनौती, जनजाति समाज
  • भूगोल : भूगोल में सामाजिक अध्ययन और विज्ञान का अध्ययन, ग्रह और सौर मंडलों का अध्ययन, वायु पानी कृषि, मानव पर्यावरण में बनावट परिवहन और संचार का माध्यम, संसाधन जैसे प्राकृतिक मानव आदि

सामाजिक और राजनीतिक जीवन का पाठ्यक्रम –

  • संविधान
  • न्यायपालिका
  • संसदीय सरकार
  • सामाजिक न्याय
  • मीडिया को समझना
  • विविधता
  • लिंक खोलाना
  •  स्थानीय सरकार
  • समाजिक विज्ञान और सामाजिक विज्ञान और उनकी अवधारणाओं का अध्ययन करना
  • क्लासरूम प्रक्रिया को समझना
  • पूछताछ छात्रों से करना
  • आलोचनात्मक सोच को जन्म देना
  • परियोजनाएं कार्य और मूल्यांकन

CBSE CTET के इस Syllabus और Exam Pattern तथा CTET की पात्रता और मानदंड से जुड़े और कोई जानकारी के बारे में जानना है तो इसकी ऑफिसियल वेबसाइट www.CTET.nic.in में जाकर देख सकते हैं।

हमारे द्वारा प्रस्तुत cbse CTET 2022 का Syllabus के ऊपर यह आर्टिकल आपको कैसा लगा हम आशा करते हैं कि यह आर्टिकल आपके लिए लाभदायक होगा अतः आप से अनुग्रह है कि यह लेख को अपने अन्य सभी दोस्तों तक पहुंचाएं तथा इसका फीडबैक हमें कमेंट करके जरूर बताएं, धन्यवाद।।।

UP Super TET Syllabus 2022 In Hindi

1 thought on “CTET Syllabus In Hindi | सीटेट के बारे में संपूर्ण जानकारी”

Leave a Comment